Weather Forecast: हरियाणा में 15 जनवरी कैसा रहेगा मौसम, देखें मौसम अपडेट

 | 
Weather Breaking-हरियाणा में अभी-अभी बारिश, 27 तक जारी रहेगी हल्की से मध्यम बारिश, देखें मौसम पूर्वानुमान
हरियाणा कृषि मौसम विभाग हिसार की तरफ से जारी मौसम पूर्वानूमान के मुताबिक प्रदेश में 15 जनवरी तक मौसम परिवर्तनशील रहने की संभावना है। इस दौरान मौसम खुश्क रहेगा और उत्तर व उत्तर पश्चिमी हवाएं चलने से तापमान में गिरावट दर्ज की जाएगी।

इसके अलावा दिन के तापमान में हल्की बढोत्तरी होने की संभावना है वहीं अलसुबह और रात को हल्की धुंध छाए रहने की संभावना है। देश के पूर्वी भाग में भारी बारिश के अनुमान को लेकर भारतीय मौसम विभाग (Indian Meteorological Department) ने येलो और ऑरेंज अलर्ट जारी किया है.


 

 
आईएमडी के साइंटिस्ट आर के जेनामनी ने न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा कि पश्चिमी विक्षोभ के बढ़ते प्रभाव की वजह से मध्य भारत और पूर्वी हिस्सों में विशेष ओडिशा, झारखंड, बंगाल और बिहार में भारी बारिश होगी. इसे लेकर 11 से 13 जनवरी के बीच इन स्थानों पर भारी बारिश को लेकर चेतावनी जारी की गई है. भारतीय मौसम विभाग के अनुसार, पश्चिमी विक्षोभ के कारण 11 जनवरी से देश के पूर्वी भाग के प्रभावित होने की संभावना है.

आईएमडी साइंटिस्ट ने कहा कि, ओडिशा के लिए 11 और 12 जनवरी को पहले से ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. वहीं 11 जनवरी को छत्तीसगढ़, झारखंड और ओडिशा में ओलावृष्टि होने की संभावना है. उन्होंने कहा कि तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों में भी गरज के साथ बारिश होगी. इसके अलावा उत्तर भारत में शीत लहर की चेतावनी दी गई है. जबकि राजस्थान और हरियाणा में घना कोहरा देखने को मिलेगा.

देश भर में बने मौसमी सिस्टम

पश्चिमी विक्षोभ मध्य पाकिस्तान और पंजाब के आसपास के हिस्सों पर एक चक्रवाती परिसंचरण के रूप में बना हुआ है। प्रेरित चक्रवाती परिसंचरण राजस्थान के पूर्वी भागों पर बना हुआ है। अरब सागर से आ रही नम हवाएं महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और उत्तरी मैदानी इलाकों में नमी पहुंचा रही हैं।

अरब सागर से दक्षिण पश्चिमी आर्द्र हवाओं और बंगाल की खाड़ी से दक्षिण पूर्वी हवाओं के कारण, देश के मध्य भागों में संगम क्षेत्र बना हुआ है।

पिछले 24 घंटों के दौरान देश भर में हुई मौसमी हलचल

पिछले 24 घंटों के दौरान, जम्मू कश्मीर, गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में हल्की से मध्यम बारिश और और हिमपात के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश और भारी हिमपात हुआ। लद्दाख में हल्की से मध्यम बारिश और हिमपात हुआ।


 
पंजाब, हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों, विदर्भ के कुछ हिस्सों और पूर्वोत्तर राजस्थान में हल्की से मध्यम बारिश हुई। मध्य प्रदेश के शेष हिस्सों और कोंकण और गोवा के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हुई। मध्य महाराष्ट्र और पूर्वी उत्तर प्रदेश और तटीय तमिलनाडु, केरल और मराठवाड़ा के अलग-अलग हिस्सों में हल्की बारिश हुई।

राजस्थान और गुजरात के कुछ हिस्सों में न्यूनतम तापमान में 4 से 5 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। और मध्य प्रदेश, पंजाब और हरियाणा के पश्चिमी भागों में 2-3 डिग्री की गिरावट देखी गई।

अगले 24 घंटों के दौरान मौसम की संभावित गतिविधि

अगले 24 घंटों के दौरान, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में अगले 24 घंटों तक हल्की से मध्यम बारिश और कुछ भारी बारिश के साथ हिमपात जारी रहने की संभावना है। इसके बाद बारिश की तीव्रता में उल्लेखनीय कमी आएगी। पश्चिमी हिमालय के शेष हिस्सों में हल्की बारिश और हिमपात संभव है।

पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार के कुछ हिस्सों, झारखंड, छत्तीसगढ़, विदर्भ और पूर्वी मध्य प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। पंजाब, हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के उत्तरी जिलों और दिल्ली एनसीआर के एक या दो हिस्सों में हल्की बारिश संभव है। कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र, केरल, तमिलनाडु, तेलंगाना और अरुणाचल प्रदेश में कुछ जगहों पर हल्की बारिश हो सकती है।

पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान, गुजरात, पश्चिमी मध्य प्रदेश और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में न्यूनतम तापमान में और गिरावट आने की संभावना है।

देश के उत्तरी इलाके में जारी बारिश को लेकर मौसम विभाग ने कहा है कि, पश्चिमी हिमालय क्षेत्र और आसपास के मैदानी इलाकों, राजस्थान, हरियाणा और पंजाब में जारी बारिश आज से कम हो जाएगी. शनिवार को यहां बारिश से थोड़ी राहत मिली थी लेकिन पंजाब में बारिश से राहत नहीं मिली है.

भारतीय मौसम विभाग ने बताया कि राजधानी दिल्ली में आज रात से बारिश से राहत मिलने की उम्मीद है और 16 और 17 जनवरी तक दिल्ली में बारिश होने की संभावना नहीं है. आईएमडी साइंटिस्ट आर के जेनामनी ने कहा कि, देश के उत्तरी भागों में 11 जनवरी से शीत लहर शुरू हो जाएगी. देश के पूर्वी भागों में पश्चिमी विक्षोभ के कारण तापमान में भारी गिरावट देखने को मिलेगी. इसलिए दिल्ली समेत उत्तर भारत में पारा गिरकर 4 से 6 डिग्री तक जा सकता है.