एक्सीडेंट के बाद टैंकर के केबिन में फंसे रहे ड्राइवर-क्लीनर, लोगों को सरसों का तेल लूटने में नही थी फुरशत

आगरा के बाईपास में हुए हादसे के बाद ग्रामीण सरसों का तेल लूटने व्यस्त रहे और किसी ने भी केबिन में फंसे ड्राइवर और क्लीनर की सुध नहीं ली। वहीं पर जो भी आया सरसों का तेल अपने बर्तनों में भरकर ले गया।
 | 
Accident, accident in track and tanker, Agra, uttar pradesh

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के आगरा (Agra) के न्यू सदर्न बाईपास पर शुक्रवार सुबह सरसों कच्चा तेल ले जा रहे ट्रक का एक्सीडेंट हो गया। इसके बाद ट्रैक से टक्कर के बाद टैंकर के केबिन में ड्राइवर और क्लीनर भी फंस गए। लेकिन किसी ने उन्हें बचाने की कोशिश नहीं की। जबकि ग्रामीण तेल इकट्ठा करने में व्यस्त रहे और किसी ने भी टैंकर के केबिन में फंसे ड्राइवर और क्लीनर को बचाने की कोशिश नहीं की। इस दौरान ग्रामीण अपने घरों से मिले बर्तनों को लेकर आए और तेल भर कर ले गए। इसके बाद कुछ ग्रामीणों ने आकर ड्राइवर और क्लीनर की मदद की और पुलिस को इसकी जानकारी दी।

जानकारी के मुताबिक न्यू दक्षिणी बाईपास पर घने कोहरे के कारण एक दर्जन वाहन आपस में टकरा गए और इस हादसे में बाइक सवार की मौत हो गई। वहीं आधा दर्जन घायलों को इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। जानकारी के मुताबिक ये हादसा लालाऊ पुल के पास न्यू सदर्न बाईपास पर सुबह करीब साढ़े पांच बजे हुआ। बताया जा रहा है कि गुजरात से एक टैंकर सरसों का तेल लेकर ग्वालियर जा रहा था और एक ट्रैक से उसकी टक्कर हो गई। ट्रक सड़क के किनारे खड़ा था। जब ट्रैंकर का एक्सीडेंट हुआ तब ग्रामीण खेतों में काम कर रहे थे और देखा कि चालक व परिचालक टैंकर के केबिन में फंस गए हैं और अन्य वाहन पीछे से टकरा गए हैं। वहीं एक ट्र टैंकर में घुस गया और टैंकर के ऊपरी हिस्से में बड़ा छेद हो गया और इसके कारण तेल सड़क में बहने लगा।


ग्रामीण भरते रहे तेल
जब ट्रक और टैंकर के बीच टक्कर हुई और तेल सड़क पर बहने लगे तो ग्रामीण बाल्टी लेकर आए और तेल को बटोरने लगे। वहीं किसी भी केबिन में फंसे ड्राइवर और क्लीनर की सुध नहीं ली। तभी कुछ ग्रामीणों ने ड्राइवर और क्लीनर को ट्रक से बाहर निकाला और पुलिस को जानकारी दी।

कुछ ग्रामीणों ने की मदद
इस हादसे में के बाद विशम्भर सिंह, नरेंद्र सिंह, गफ्फार खान वहां पहुंचे और उन्होंने टैंकर के केबिन में फंसे ड्राइवर-क्लीनर को बाहर निकाला। विशंभर सिंह ने बताया कि उन्होंने ग्रामीणों को मदद के लिए बुलाया और सभी घरों से रस्सी लेकर आए और ड्राइवर और क्लीनर को बाहर निकाला गया।