किसानों के लिए खुशखबरी! इस योजना के तहत मुआवजा दे रही सरकार, ऐसे करें अप्लाई

 | 
Haryana Bhavantar Bharpayee Yojana

भारत एक कृषि प्रधान देश है और यहाँ की अधिकतम जनसंख्या की आय का स्त्रोत कृषि पर ही निर्भर करता है। लेकिन इन सब के बावजूद भी देश में किसानों की हालत चिंताजनक बनी ही है।

हालात इसते खराब है कि हर साल कई किसान अपने खेतो में होने वाले नुकसान के कारण आत्महत्या कर लेते है। देश में किसानों की स्थिति में सुधार करने के लिये केंद्र और राज्य सरकारें कई योजनाओं का शुभारंभ कर रही है।

इसी क्रम में हरियाणा सरकार द्वारा राज्य के किसानों को लाभान्वित करने के लिए एक योजना लागु की गई है। जिसके अंतर्गत किसानों को उनकी फसल में होने वाले नुकसान की भरपाई हो सकेगी।

आपको बता दें कि, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने प्रदेश के किसान भाइयों के लिए हरियाणा भावान्तर भरपाई योजना का शुभारंभ किया है। सरकार का कहना है कि इस योजना के तहत राज्य के किसानों को भरपूर लाभ मिलने वाला है। हरियाणा सरकार का मानना है कि इस योजना के अंतर्गत किसान अपनी फसलों और सब्जियों का उचित मूल्य पा सकेंगे।

क्या है भावान्तर भरपाई योजना-  

हरियाणा भावान्तर भरपाई योजना के तहत किसानों को बागवानी उत्पादकों के लिए मंडी में उनके उत्पादक के कम दाम मिलने पर राज्य सरकार द्वारा मुआवजा दिया जाएगा या फिर किसानों को होने वाले घाटे की भरपाई की जाएगी। यह योजना किसानों को उनकी फसल में विविधता लाने में सहायत होगी। साथ ही फसल के लिए म्यूनतम समर्थन मूल्य सुनिश्चित कर उनके घाटे को कम करने में मदद करेगी।

हरियाणा भावान्तर भरपाई योजना का उद्देय- 

  • किसानों को सशक्त बनाना: इस योजना के तहत राज्य सरकार का उद्देश्य प्रदेश के किसानों को सशक्त करना है। इसके अंतर्गत न केवल सब्जियों की कीमतें तय की जाएगी बल्कि किसानों को अन्य क्षेत्रो में भी सशक्त बनाने का प्रयास किसा जाएगा।
  • सभी किसान सम्मिलित होंगे: इस योजना में हर वर्ग के किसानों को सम्मिलित किया गया है. कोई भी किसान जो कि पारंपरिक या विदेशी कोंई भी फसल उगाता हो इस योजना का लाभ ले सकता है.
  • न्यूनतम मूल्य तय करना: इस योजना के द्वारा हरियाणा सरकार यह सुनिश्चित करती है कि, किसानों को उनकी सब्जियों का बेसिक प्राइस तो मिले ही ताकि उसे किसी किस्म का नुकसान ना हो।
  • किसानों की कमाई को बढ़ाना: इस योजना द्वारा सरकार किसानों को हर तरह  की जानकारी प्रदान करेगी, जिससे वे अपनी फसलों को बाजार में पहले से अधिक दाम में बेच पाये। इस तरह सरकार का साल 2022 तक किसानों की   आय को आज से दुगना कर सकेगी।
  • स्कीम के द्वारा सब्जियों का चुनाव: हरियाणा सरकार द्वारा चार मुख्य सब्जियों का चुनाव किया गया है जिसका न्यूनतम समर्थन मूल्य सरकार द्वारा तुरंत तय किया जाएगा। आलू, टमाटर, प्याज और गोबी मुख्य फसलों की लिस्ट में शामिल है। अब इस योजना में गाजर, मटर, बिहीं, शिमला मिर्च एवं बैगन को भी जोड़ दिया गया है।
  •  बाजारों तक पहुँच पाना संभव: किसान अपनी फसलों को लेकर नये बाजारों में जा सकते है और बेहतर अवसर प्राप्त कर सकते है, ताकि वे अपनी फसलों की अच्छी कीमत ले सके। इस बात को ध्यान में रखते हुए हरियाणा सरकार ने किसानों को  दिल्ली और एनसीआर बाजारों में अपनी फसलों को बेचने की मंजूरी दी है।
  • नुकसान की भरपाई करना: इस योजना का मुख्य उद्देश्य यही है, किसान को अपनी फसल में हे नुकसान की भरपाई करना।
  • किसानों को नई कृषि प्रणाली की जानकारी देना: इस योजना द्वारा किसानों को खेती के पारंपरिक तरीको को छोड़कर नये तरीको को अपनाने की सलाह और जानकारी दी जाएगी।
  • फसलों को ख़राब होने से बचाना: फसल अधिक समय तक सही नहीं रह सकती. इसलिए उन्हें सही स्थिति में बनाये रखने के लिए सरकार द्वारा उसके निश्चित स्टोरेज की व्यवस्था की गयी है।
  • आय सुनिश्चित करना: योजना के अंतर्गत आने वाली फसलों के लिए 48,000 से 56,000 रुपये प्रति एकड़ की आय सुनिश्चित करना।

हरियाणा भावान्तर भरपाई योजना से फायदे-  

  • हरियाणा भावान्तर भरपाई योजना से किसानों का जीवन स्तर ऊपर उठ सकेगा।
  • भवान्तर भरपाई योजना के तहत पंजीकरण कराने पर प्रदेश के किसानों को अपनी फसल का उचित दाम मिल सकेगा।
  • प्रदेश के किसानों को कर्ज से मुक्ति मिल सकेगी।
  • इस योजना का लाभ मिलने पर किसानों को आत्महत्या नहीं करनी पड़ेगी।

हरियाणा भवान्तर भरपाई योजना के लिए जरूरी दस्तावेज- 

  • आवेदन करने वाले व्यक्ति का आधार कार्ड।
  • आवेदन करने वाला नागरिक हरियाणा का स्थाई निवासी होना चाहिए|
  • आवेदनकर्ता के पास वोटर कार्ड के साथ-साथ बिजली का बिल होना भी अनिवार्य है|
  • आवेदन करने वाले  व्यक्ति को अपने किसी भी बैंक खाते का विवरण देना होगा।

हरियाणा भावान्तर भरपाई योजना के लिए ऐसे करें आवेदन-   

  • किसानों को भावांतर भरपाई योजना हरियाणा पोर्टल की ऑफिशियल वेबसिट पर जाना होगा। इस पर क्लिक करने से तुरंत एक सिट खुलेगी।
  • इसके बाद आपको “किसान पंजीयन करे” बटन पर क्लिक करना है। जिसके बाद रजिस्ट्रेशन ऑर्म आपके सामने खुल जाएगा।
  • इसके बाद आपको फॉर्म में पूछी गई जानकारी को सही तरीके से भरना होगा।
  • इसके बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना है।
  • आप का फॉर्म भरा हुआ माना जाएगा।