e-SHRAM: आपके खाते में आए हैं 1000 रुपये, फटाफट ऐसे करें चेक

 | 
e-SHRAM

अगर आप रिसेप्शनिस्ट, पूछताछ वाले क्लर्क, ऑपरेटर या  मंदिर के पुजारी हैं, या फिर कंस्ट्रक्शन वर्कर, प्रवासी श्रमिक, स्ट्रीट वेंडर, घरेलू कामगार, कृषि श्रमिक या दूसरे कोई भी कामगार हैं। अगर ईएसआईसी या ईपीएफओ के सदस्य नहीं हैं और ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्टर्ड हैं तो अपना अकाउंट जरूर चेक कीजिए।

अगर आप उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं तो आप जैसे 1.50 करोड़ श्रमिकों के खातों में योगी सरकार ने 1000-1000 रुपये भेज दिया है। बता दें मोदी  सरकार द्वारा 4 महीने पहले लॉन्च किए गए ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण कराने वाले श्रमिकों की संख्या 19 करोड़ के पार हो गई है। अबतक  पोर्टल पर 19.24 करोड़ से अधिक श्रमिकों का पंजीकरण हो चुका है। 

यूपी में रजिस्ट्रेशन संख्या 7  करोड़ के पार 

अगर राज्यों की बात करें तो योगी सरकार द्वारा श्रमिकों को हर महीने 500 रुपये देने की घोषणा के बाद रजिस्ट्रेशन की ऐसी बाढ़ आई कि यहाँ संख्या 7  करोड़ के पार पहुंच गई। अभी इसी सोमवार को योगी सरकार ने मज़दूरों के खातों में 1000-1000 रुपये डाला था।

अब यहां ई-श्रमिक कार्ड बनवाने वालों की संख्या 7 करोड़ 01 लाख से अधिक हो गई है। दूसरे नंबर पर पश्चिम बंगाल 2.37 करोड़ श्रमिकों के साथ है। बिहार तीसरे नंबर पर और चौथे पर ओडिशा है।

अगर उत्तर प्रदेश के जिलों की बात करें तो सबसे अधिक रजिस्ट्रेशन प्रयागराज में हुए हैं। यहां 19.75 लाख श्रमिकों के ई-श्रमिक कार्ड हैं। दूसरे नंबर पर जौनपुर है, यहां 18.58 लाख लोग ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्टर्ड हैं। सीतापुर तीसरे, बरेली चौथे और लखीमपुर-खीरी पांचवें नंबर पर है। गोरखपुर छठे, हरदोई सातवें, आजमगढ़ आठवें, आगरा नौवें और प्रतापगढ़ 10वें स्थान पर है।

पूरे देशें में कुल पंजीकरण में से 61.43 फीसदी श्रमिक 18 से 40 आयु वर्ग के हैं। वहीं, इसमें सबसे अधिक ओबीसी 45.16 फीसद, इसके बाद सामान्य वर्ग के 25.82 फीसद श्रमिक हैं। जबकि, एसएसी 22.06 फीसद और एसटी की संख्या 6.97 फीसद है।