2000 रुपये की किस्त के अलावा किसानों को 3000 की पेंशन भी मिल सकती है, ऐसे करना होगा अप्लाई

पीएम श्रम योगी मानधन योजना (PM shram yogi mandhan yojana) के तहत किसान अपने काम के साथ समय-समय हर महीने थोड़ा सा निवेश करके एक मासिक पेंशन प्राप्त कर सकते हैं।

 | 
PM Kisan, PM Kisan installment, PM kisan Mandhan Yojana, pm kisan samman nidhi, PM Kisan Samman Yojna,Money,Farmer,atal bihari vajpayee,PM Kisan Samman Nidhi,installment,25 December,Account Credit,Prime Minister, pm kisan status, pm kisan samman nidhi official website, pm kisan samman nidhi up, pm kisan samman nidhi problem, pm kisan samman nidhi beneficiary status, pm kisan samman nidhi 2021, pm kisan registration

केंद्र सरकार की ओर से 15 दिसंबर, 2021 तक पीएम किसान योजना (PM kisan yojana) के तहत अगली 2000 रुपये की किस्त सीधे किसानों के बैंक खातों में डाल जाने की उम्मीद है। सरकार अब तक किसानों के बैंक खातों में 2000 रुपये की नौ किस्तें ट्रांसफर कर चुकी है जो कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत देश भर के किसानों को दिए गए हैं।

केंद्र सरकार की फ्लैगशिप योजना के तहत किसानों को हर साल 2000 रुपये की तीन अलग-अलग किस्तों में 6000 रुपये दिए जाते हैं। किसान अब अपनी 10वीं और 2022 की आखिरी किस्त का इंतजार कर रहे हैं। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अलावा, सरकार किसानों के लाभ के लिए कई अन्य योजनाएं चलाती है। उदाहरण के लिए, सरकार किसानों के भविष्य को सुरक्षित करने के मकसद से ‘पीएम श्रम योगी मानधन योजना’ भी चलाती है।


कितना करना होगा निवेश
पीएम श्रम योगी मानधन योजना (PM shram yogi mandhan yojana) के तहत किसान अपने काम के साथ समय-समय हर महीने थोड़ा सा निवेश करके एक मासिक पेंशन प्राप्त कर सकते हैं। यह पैसा उस वक्त काम आएगा जब किसान खेती-बाड़ी छोड़कर रिटायरमेंट की अवस्था में होंगे या उनके हाथ में जीविका का कोई साधन नहीं होगा। इस योजना में 60 वर्ष की आयु के बाद किसानों को मासिक पेंशन मिलना शुरू हो जाती है।

कितने मिलेगी पेंशन
पीएम श्रम योगी मानधन योजना (PM shram yogi mandhan yojana) के लिए रजिस्ट्रेशन करने के लिए किसानों को कई दस्तावेज जमा करने होंगे। हालाँकि, पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थियों को योजना के लिए अलग से रजिस्ट्रेशन करने की आवश्यकता नहीं है। 18 से 40 वर्ष की आयु का कोई भी किसान अपने बुढ़ापे के खर्च की टेंशन दूर करने के लिए इस रिटायरमेंट बीमा योजना में निवेश करना शुरू कर सकता है। किसान को 3000 रुपये मासिक पेंशन मिल सकती है। इस पेंशन का लाभ और अधिक हो सकता है जब निवेश पहले और सही समय पर शुरू कर दिया जाए।

पीएम श्रम योगी मानधन योजना में रजिस्ट्रेशन के लिए आवश्यक दस्तावेज:

1। आधार कार्ड
2। पहचान पत्र
3। आयु प्रमाण पत्र
4। आय प्रमाण पत्र
5। खेत के खसरा खतौनी
6। बैंक खाता पासबुक
7। मोबाइल नंबर
8। पासपोर्ट साइज फोटो
हर महीने 3000 रुपये पाने के लिए, किसानों को उनकी वर्तमान उम्र के आधार पर, योजना में प्रति माह 55 रुपये से 200 रुपये तक निवेश करना शुरू करना होगा। यह बीमा योजना बीमा कराने वाले शख्स की मृत्यु के मामले में नॉमिनी को लाभ भी प्रदान करती है।

क्या है मानधन योजना
प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना के तहत देश के सभी छोटे और सीमांत किसानों को बीमा का लाभ मिलता है। इस योजना के अंतर्गत किसानों को बुढ़ापे में सही तरीके से जीवन गुजारने के लिए सरकार की ओर से पेंशन दी जाती है। पेंशन के रूप में किसान 3,000 रुपये की रकम पा सकते हैं। इस योजना की शुरुआत केंद्र सरकार ने 2019 में शुरू किया था। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस स्कीम की लॉन्चिंग की थी। इसके तहत देश के छोटे और सीमांत तबके के किसानों को 60 साल की उम्र के बाद हर महीने 3000 रुपये की पेंशन पेंशन आर्थिक मदद के रूप में दी जाती है।