अभय सिंह चौटाला ने बीजेपी को बनाया निशाना, बढ़ती हुई बेरोजगारी के लिए ठहराया जिम्मेदार

 | 
अभय सिंह चौटाला ने बीजेपी को बनाया निशाना, बढ़ती हुई बेरोजगारी के लिए ठहराया जिम्मेदार

इनेलो प्रधान महासचिव एवं ऐलनाबाद के विधायक अभय सिंह चौटाला ने कहा कि सीएमआईई द्वारा जारी किए गए ताजा आंकड़ों से हरियाणा प्रदेश में रोजगार की बद से बदतर होती हालत का पता चलता है. बेरोजगारी के आंकड़े मौजूदा भयावह परिस्थितियों की गवाही दे रहे हैं कि आज प्रदेश में 34.5 प्रतिशत युवा बेरोजगारी का शिकार हैं और पूरे देश में बेरोजगारी में नंबर एक पर हैं.

यही हाल महंगाई का है, मार्च के महीने में रिटेल महंगाई बढक़र 6.95 प्रतिशत तक जा पहुंची है. लेकिन मजाल है कि भाजपा गठबंधन सरकार के कानों पर जूं भी रेंगती नजर आई हो. बेरोजगारी, महंगाई और भ्रष्टाचार, भाजपा गठबंधन सरकार की एकमात्र उपलब्धि है.

बेरोजगारी के आंकड़े हरियाणा में भयावह हालातों की गवाही दे रहे हैं : अभय सिंह चौटाला
उन्होंने कहा कि दो साल से हरियाणा प्रदेश के युवाओं को सरकारी नौकरियां नहीं मिली हैं. नई नौकरियां मिलना तो दूर की बात है, जो भर्तियां निकली थी वो भी पेपर लीक और नौकरियां बेचने के चक्कर में रद्द करनी पड़ी, और कुछ कोर्ट केस के कारण अटकी पड़ी हैं.


प्रदेश में सी और डी कैटेगरी की सरकारी नौकरियां देने वाली एचएसएससी को भ्रष्टाचार में संलिप्त होने के कारण 40 हजार से ऊपर नौकरियां रद्द करनी पड़ी हैं.

भाजपा गठबंधन सरकार ने उद्योगपतियों को फायदा देने के लिए बिजली संकट पैदा किया, जिससे औद्योगिक उत्पादन घटा है और ज्यादातर उद्योग घाटे में चल रहे हैं. लगातार घाटे में चलने के कारण प्रदेश में पांच लाख से ऊपर लोगों की नौकरियां चली गई हैं और वो बेरोजगार होकर घर बैठ गए हैं. सरकार प्रदेश के युवाओं को रोजगार देने में बिल्कुल भी गंभीर नहीं है क्योंकि सरकार के पास प्रदेश के बेरोजगारों का डाटा ही नहीं है.