सुबह उठते ही नहीं देखनी चाहिए ये 5 चीजें, बिगाड़ देती हैं बनते काम!

 | 
Vastu tips
कंपटीशन के इस दौर में अपनी और परिवार की जरूरतों को पूरा करने में लोग हर समय जुटे रहते हैं। हैप्पी और स्टेबल लाइफ (Stable life) के लिए ज्यादातर लोग कड़ी मेहनत और लगन से काम करते हैं, ताकि उन्हें और उनके परिवार को समस्याओं का सामना न करना पड़े। कभी-कभी कड़ी मेहनत और लगन के बावजूद परेशानियां पीछा नहीं छोड़ती। 

इसके पीछे वास्तु दोष भी हो सकता है। वास्तुशास्त्र (Vastu) में कुछ नियम बनाए गए हैं और ऐसा माना जाता है कि अगर इन्हें न माना जाए तो घर में नेगेटिव माहौल बना रहता है। इतना ही नहीं इस कारण आर्थिक एवं शारीरिक तंगियां (Financial problems) भी हमारे जीवन को बुंरी तरह प्रभावित करती हैं। वास्तु के मुताबिक जीवन को चलाना काफी शुभ माना जाता है।

हम बात कर रहे हैं सुबह उठने के बाद किन-किन चीजों को नहीं देखना चाहिए। वास्तुशास्त्र में इसके लिए भी कई नियम बनाए गए हैं। हम आज इन्हीं नियमों के बारे में आपको बताने जा रहे हैं। जानें…

शीशा
वास्तु के मुताबिक सुबह-सुबह उठने के बाद लोगों को शीश देखने की भूल नहीं करनी चाहिए। इसे काफी अशुभ माना जाता है, साथ ही मान्यता है कि इससे दिन भी खराब जा सकता है। इसलिए आज से ही सुबह उठने के बाद शीशा देखने की आदत को छोड़ दें।


खंडित मूर्ति
वैसे तो घर में टूटी या खंडित मूर्ति नहीं होनी चाहिए, क्योंकि ये भी अशुभ होता है। लेकिन अगर आपके घर में खंडित या टूटी मूर्ति है तो भूल से भी उसे ऐसी जगह न रखें कि सुबह उठते ही वह आपकी आंखों के सामने मौजूद हो।

रुकी हुई घड़ी
वास्तु की मानें तो सुबह उठते ही बंद घड़ी भी नहीं देखनी चाहिए। इस कारण घर में आर्थिक तंगी आने लगती हैं और परिवार में झगड़े भी बढ़ते हैं। दरअसल, घर में बंद घड़ी न रखने की सलाह दी जाती है।

झूठे बर्तन
सुबह उठने के बाद अगर किचन में मौजूद झूठे बर्तन देख लिए जाए तो इससे भी दिन की शुरुआत खराब हो सकती है। इसके बजाय रात में ही बर्तनों को साफ करके सोना चाहिए। वास्तु के अनुसार ये अच्छा माना जाता है।

परछाई न देखें
वास्तु के मुताबिक सुबह उठने के बाद अपनी परछाई को भी नहीं देखना चाहिए। अगर किसी कारणवश परछाई बनती है तो उसे नजरअंदाज करें। मान्यता है कि इससे जीवन में नेगेटिविटी बनती है और कई समस्याएं बनी रहती हैं।