पीएम मोदी की लंबी उम्र के लिए खट्टर ने किया हवन, बोले-बर्खास्त हो चन्नी सरकार

 | 
Haryana Weather Update, Weather News, heavy rain, Haryana News, हरियाणा वेदर अपडेट, वेदर न्‍यूज़, IMD , हरियाणा न्‍यूज़
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक को लेकर सियासी पारा चढ़ा हुआ है। हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने पंचकूला के माता मनसा देवी मंदिर में पीएम की दीर्घायु के लिए हवन किया। इसके बाद वह बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष ओपी धनखड़, गृह मंत्री अनिल विज, शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर और खेल मंत्री संदीप सिंह समेत कई मंत्रियों के साथ हरियाणा के राजभवन पहुंचे और राज्‍यपाल को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान उन्‍होंने चन्‍नी सरकार को बर्खास्‍त करने की मांग की है।

पंचकूला। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। इस बीच हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने पंचकूला के माता मनसा देवी मंदिर में पीएम की दीर्घायु के लिए हवन किया। इसके साथ उन्‍होंने कहा कि जिस तरीके से पंजाब सरकार ने प्रधानमंत्री की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया है, यह ठीक नहीं है।

वहीं, इस पूजा के बाद सीएम और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष ओपी धनखड़ हरियाणा राजभवन पहुंचे और राज्‍यपाल को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान प्रतिनिधिमंडल में गृह मंत्री अनिल विज, शिक्ष मंत्री कंवरपाल गुर्जर, खेल मंत्री संदीप सिंह, सहकारिता मंत्री बनवारी लाल, परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा और पूर्व मंत्री रामबिलास शर्मा भी मौजूद थे।

सीएम खट्टर ने कहा कि माता मनसा देवी मंदिर में महामृत्युंजय के जाप के माध्यम से पीएम नरेंद्र मोदी की दीर्घायु की कामना की है। इसके साथ उन्‍होंने कहा कि इस मामले में एक 3 सदस्य कमेटी भी गठित की गई है, जो जल्दी ही जांच करके अपनी रिपोर्ट सौंप देगी। खट्टर ने कहा कि पंजाब की चन्नी सरकार को तुरंत बर्खास्त कर देना चाहिए और राष्ट्रपति शासन लगाना चाहिए।

सीएम ने पंजाब सरकार को दी ये नसीहत
इसके साथ मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोद का कार्यक्रम पंजाब में होगा, इसलिए उनकी सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत रखने के लिए पंजाब में राष्ट्रपति शासन होना चाहिए। वहीं, उन्‍होंने कहा कि पीएम के जीवन के साथ पंजाब सरकार और प्रशासन ने खिलवाड़ करने की कोशिश की, इसलिए लंबी आयु की कामना के लिए हवन पूजा की है।

वहीं, उन्‍होंने कहा कि शासकीय दृष्टि से देश के प्रधानमंत्री का पद सबसे बड़ा पद होता है, जब भी उनका कोई कार्यक्रम बनता है, तो उनकी सुरक्षा व रास्तों को सुनिश्चित करना प्रदेश सरकार की जिम्मेदारी होती है। अगर पंजाब सरकार अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन सही तरीके करती तो यह स्थिति नहीं आती। वहीं, उन्‍होंने कहा कि ऐसी घटना देश के प्रधानमंत्री के साथ किसी भी पक्ष की सरकार के समय नहीं हुई है। खट्टर ने कहा कि इस मामले में पंजाब सरकार की लापरवाही रही है और जांच में यह सामने आ जाएगी।

राज्‍यपाल को सौंपा ज्ञापन, अब राष्ट्रपति की बारी
वहीं, सीएम और हरियाणा कैबिनेट के कई मंत्रियों ने पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक के बाद राज्‍यपाल को ज्ञापन सौंपा है। उन्‍होंने कहा कि पीएम की सुरक्षा में जो चूक हुई है वो बेहद निंदनीय है। हरियाणा के राज्‍य से पंजाब में वर्तमान सरकार को हमने बर्खास्त करने की मांग की है।

इसके साथ सीएम खट्टर ने कहा कि इस मामले में देश के राष्ट्रपति को संज्ञा लेना चाहिए और हमें भी उनको ज्ञापन सौंपेगे। इसके साथ कहा कि हम राष्ट्रपति से पंजाब सरकार को बर्खास्त करने की मांग करेंगे, क्‍योंकि जो सरकार अपनी जिम्मेदारी नहीं निभा पा रही वह किस काम की है।

यही नहीं, हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने राज्‍य में बढ़ते कोविड और ओमिक्रॉन के मामलों को लेकर भी माता मनसा देवी का आशीर्वाद लिया है, ताकि यह महामारी ज्‍यादा नुकसान न कर सके।