हरियाणा

हरियाणा में 24 लाख श्रमिकों की बल्ले- बल्ले, अब किसी भी हॉस्पिटल में करवा सकेंगे फ्री इलाज

CH Silven
23 Sep 2022 2:15 PM GMT
हरियाणा में 24 लाख श्रमिकों की बल्ले- बल्ले, अब किसी भी हॉस्पिटल में करवा सकेंगे फ्री इलाज
x
हरियाणा सरकार समय-समय पर नई नई योजनाएं लाती रहती हैं.

चंडीगढ़ :- हरियाणा सरकार समय-समय पर नई नई योजनाएं लाती रहती हैं. इस बार भी हरियाणा सरकार ने अपने 24 लाख श्रमिकों के कल्याण (Welfare) के लिए कुछ महत्वपूर्ण कदम उठाए है. आने वाले समय में सभी श्रमिक न केवल ESI के अस्पतालों बल्कि बाकी Government अस्पतालों में भी अपना इलाज करवा सकेंगे. इतना ही नहीं नए साल तक राज्य के अंदर बनने वाले 6 नए अस्पतालों में न सिर्फ श्रमिक ही बल्कि सामान्य लोग भी अपना इलाज करवा पाएंगे. पहले, इन Hospitals में केवल श्रमिक ही इलाज करवाते थे.

सीएम ने श्रमिक दिवस पर किए कई मुख्य ऐलान

प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने श्रमिक दिवस पर श्रमिकों की भलाई को ध्यान में रखते हुए कई प्रकार के ऐलान किए हैं. आपको बता दें कि पहले ESI भी प्रदेश स्वास्थ्य विभाग में था परन्तु अब इसको स्वास्थ्य विभाग से निकालकर श्रम विभाग में डाल दिया गया है. श्रम विभाग और श्रम विभाग के मंत्री व अफसरों ने निर्णय लिया है कि राज्य में लगभग 24 लाख श्रमिकों ने जो योगदान दिया है वहां से इकट्ठी होने वाली राशि को उनके कल्याण पर ही लगा दिया जाए.

खर्च की जाएगी ज्यादा राशि

पूर्व में राज्य को 324 करोड़ की राशि मिला करती थी लेकिन अब इसे बढ़ाकर 624 करोड़ कर दिया गया है. श्रम विभाग के आंकड़ों के अनुसार राज्य में 24 लाख ESI Card धारक हैं, लेकिन परंपरा के अनुसार इन मजूदरों की सैलरी का कुछ हिस्सा काटा जा रहा है. अब यह कटौती 75 फीसदी तक होती है. इसके अलावा पौने चार फीसदी के करीब नियोक्ता अर्थात संस्थान देता है. यह राशि एक साल में 900 से 1000 करोड़ बनती है. कुल मिलाकर मुख्यमंत्री ने साफ कर दिया है कि अब मजदूरों के कल्याण और Development पर ज्यादा से राशि खर्च की जाए.

ESI कार्ड दिखाकर किसी भी अस्पताल में करवा सकते हैं इलाज

मुख्यमंत्री ने साफ निर्देश इसके लिए भी दिए है कि कोई भी मजदूर में किसी भी अस्पताल में अपना ईएसआई कार्ड दिखाकर इलाज करवा सकता है. इसी प्रकार से जो भी नए और पुराने ईएसआई हॉस्पिटल होंगे उनमें सामान्य व्यक्ति भी इलाज करवा पाएगा. पहले यदि ईएसआई के बारे में कहा जाए तो कईं दशकों से राज्य में केवल 942 Bed ही उपलब्ध थे. लेकिन पिछले तीन साल के अंदर इसकी Capacity को बढ़ाकर 1850 बैड कर दी गई है. श्रम विभाग के ACS वी राजशेखर भी इस दिशा में कड़ी मेहनत कर रहें है ताकि मजदूरों का भला हो सके.

केंद्रीय मंत्री दे रहे हैं काफी सहयोग

प्रदेश के श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री अनूप धानक ने कहा कि हमें केंद्र श्रमिकों के कल्याण के लिए Central मंत्री काफ़ी सहायता प्रदान कर रहें है. अब श्रमिक कल्याण और अस्पतालों पर जो राशि ख़र्च करनी है उसे Double कर दिया गया है. उन्होंने कहा है कि श्रमिकों के कल्याण के लिए कईं जरूरी काम किये गए है. उनका कहना है कि श्रम विभाग ने 17 सितम्बर को जो राज्यस्तरीय श्रमिक दिवस समारोह किया था उसमे स्वयं CM ने घोषणाएं की थी.

अनेक प्रकार की योजनाओं को दी स्वीकृति

इन सभी को निदेशक मंडल Board की बैठक में अनुमोदित कर दिया गया है साल में एक बार Free Checkup के लिए मुख्यमंत्री परिवार स्वास्थ्य परीक्षण योजना, श्रमिकों के Cashless चैकअप के लिए प्रदेश में 200 श्रम योगी क्लिनिक खोलने, श्रमिकों के लिए एडवांस लाइफ-स्पोर्ट-ALS सुविधायुक्त सौ एम्बुलेंस उपलब्ध कराना, सामान्य जांच और X-Ray के लिए 44 मोबाइल मेडिकल वैन शुरू करने, मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के अंतर्गत स्वरोजगार स्थापित करने के लिए आवेदक के लिए भवन निर्माण एवं श्रमिक कल्याण बोर्ड बैंक को गारंटर बनाने जैसी योजनाओं को मंजूरी दी है.

Next Story