PNB बैंक ने दिया बड़ा झटका, सेविंग अकाउंट में अब डबल रखना होगा न्यूनतम बैलेंस, कम पैसा होने पर लगेगा इतना चार्ज

 | 
PNB, pnb new charges, current account, pnb locker charges, demand draft charges
नई दिल्‍ली. पंजाब नेशनल बैंक (PNB) ने नए साल पर अपने ग्राहकों को जोर का झटका जोर से ही दिया है. सरकारी बैंक ने सामान्य बैंकिंग परिचालन से संबंधित विभिन्न सेवाओं के लिए लगने वाले शुल्क में बढ़ोतरी कर दी है. ये बदलाव आगामी 15 जनवरी 2022 से लागू होंगे.

पीएनबी की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार, बैंक ने बचत खातों, लॉकर्स, डिमांड ड्राफ्ट और करंट अकाउंट जैसी सुविधाओं के नियमों में भी बदलाव किया है. बचत खाते में अब कम बैलेंस होने पर लगने वाला चार्ज भी दोगुना कर दिया है. डिमांड ड्राफ्ट को कैंसिल कराने पर अब 50 रुपये ज्‍यादा देने होंगे.

बचत खाते में अब होने चाहिए 10000 रुपये
पीएनबी की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार, अब शहरी इलाकों में रहने वाले ग्राहकों के लिए अपने बचत खाते में कम से कम 10,000 रुपये का बैलेंस होना जरूरी है. अब तक यह राशि 5000 रुपये थी. कम बैलेंस होने पर लगने वाला चार्ज भी दोगुना कर दिया है. अब तक यह 300 रुपये था. अब 600 हो गया है. ग्रामीण इलाकों के ग्राहकों को मिनिमम बैलेंस से कम राशि होने पर 200 रुपये की जगह 400 रुपये प्रति तिमाही चार्ज देना होगा.


लॉकर शुल्क भी देना होगा ज्‍यादा
पीएनबी ने लॉकर शुल्क (locker charges) में भी बदलाव किए हैं. एक्स्ट्रा लार्ज साइज के लॉकरों को छोड़कर सभी टाइप के लॉकर पर अब ज्यादा शुल्क देना होगा. अर्बन और महानगरों में लॉकर के चार्ज को 500 रुपये तक बढ़ाया गया है. छोटे साइज के लॉकर का चार्ज ग्रामीण इलाके में पहले एक हजार रुपये था, जिसे 1,250 रुपये कर दिया गया है. शहरी इलाके में छोटे लॉकर का चार्ज 1,500 से बढ़ाकर 2 हजार रुपये कर दिया गया है. मध्यम साइज के लॉकर का चार्ज ग्रामीण इलाके में 2 हजार से बढ़कर 2,500, जबकि शहरी इलाके में 3 हजार से बढ़कर 3,500 रुपये हो गया है.

कम हुई लॉकर विजिट
पीएनबी ने लॉकर विजिट की संख्या भी घटा दी है. एक साल में अब 12 बार लॉकर के लिए आप विजिट कर सकते हैं. इसके बाद हर विजिट पर 100 रुपये का अतिरिक्त शुल्क देना होगा. गौरतलब है कि अब तक 15 बार लॉकर विजिट की सुविधा उपलब्ध थी. यानी अब आप अपने लॉकर को देखने के लिए कम विजिट कर सकेंगे.


करंट अकाउंट बंद करना हुआ महंगा
अब बैंक में करंट अकाउंट (Current account) को खोलने के 14 दिन और एक साल के अंदर अगर आप बंद कराते हैं तो 800 रुपये का शुल्क देना होगा. अब तक यह 600 रुपये था. इसके अलावा, एक फरवरी से आपकी किसी किस्त या निवेश का डेबिट पैसा न होने से फेल होता है तो इसके लिए 250 रुपये देने होंगे. अभी तक इसके लिए 100 रुपये लगते थे. अगर आप डिमांड ड्राफ्ट (demand draft charges) को कैंसिल कराते हैं तो अब 150 रुपए देने होंगे. इसके लिए अभी 100 रुपये ही ग्राहक को देने होते थे.