मुस्लिम लड़की से शादी करने पर हिन्दू युवक की सड़क पर पीट-पीटकर हत्या

नागराजू और फातिमा ने अपने परिवार की मर्जी के खिलाफ शादी की थी. वे एक-दूसरे को कक्षा 10 से जानते थे. जनवरी में उनकी शादी हैदराबाद के एक आर्य समाज मंदिर में हुई थी.
 | 
मुस्लिम लड़की से शादी करने पर हिन्दू युवक की सड़क पर पीट-पीटकर हत्या

दराबाद में बीती शाम अपनी पत्नी के साथ बाइक पर घर जा रहे एक युवक को लोहे की रॉड से पीट-पीट कर मार डाला. यह पूरी वारदात कैमरे में कैद हो गई. पुलिस का कहना है कि 25 वर्षीय कार विक्रेता को उसकी मुस्लिम पत्नी के भाई और रिश्तेदारों ने पीट-पीटकर मार डाला. बी नागराजू और सैयद अश्रीन सुल्ताना ने तीन महीने पहले अपने परिवार की मर्जी के खिलाफ जाकर शादी कर ली थी.

बुधवार की रात करीब 8.45 बजे दंपति अपनी बाइक पर घर से निकले ही थे कि दो लोगों ने उन्हें रोका, नागराजू को घसीटा और लोहे की रॉड और चाकुओं से हमला कर दिया. सिक्यूरिटी फुटेज में देखा जा सकता है कि भीड़ तेजी से मौके पर जमा हो रही थी लेकिन कोई भी उन्हें रोकने की कोशिश नहीं कर रहा था. कई लोग अपने मोबाइल फोन से वारदात को कैमरे में कैद कर रहे थे.

वीडियो में नागराजू जल्द ही बेजान दिखाई दिए, उनका सिर खून से सना हुआ था, उनकी पत्नी मदद के लिए चिल्ला रही थी. एक वीडियो में सुल्ताना एक हमलावर को नागराज पर एक और हमले को रोकने की कोशिश करती हुई दिख रही है. इसके बाद वहां मौजूद लोगों ने हमलावरों पर हमला कर दिया, जिसके बाद वे वहां से भाग गए. बाद में सुल्ताना ने हमलावर की पहचान अपने भाई के रूप में की.

यह सब कुछ सेकंड में खत्म हो गया था. व्यस्त सड़क पर नागराजू की मौत हो गई, लेकिन कोई भी उसे बचा नहीं सका.

सुल्ताना ने आज मीडिया से बात करते हुए कहा, 'उन्होंने बीच सड़क मेरे पति को मार डाला. पांच लोगों ने हमला किया. मेरे भाई और अन्य लोग शामिल थे. हमारी मदद करने वाला कोई नहीं था. मैंने सभी से भीख मांगी. उन्होंने मेरी आंखों के सामने उसे मार डाला.

लोग कुछ नहीं कर सके तो क्यों आए? उन्होंने केवल देखा. यह उनकी आंखों के सामने होता है, किसी को मार दिया जाता है, लोग नहीं देख सकते हैं? मैं उस पर गिर गई ताकि मैं उसे बचा सकूं. लेकिन उन्होंने मुझे दूर कर दिया. उन्होंने उसे लोहे की छड़ों से मारा और उसका सिर फोड़ दिया.'


हमलावर भाग गए लेकिन वे सुरक्षा कैमरों और चश्मदीदों द्वारा रिकॉर्ड किए गए मोबाइल फोन के वीडियो में कैद हो गए. कैमरे में दिख रहे हत्यारों को पकड़ने के लिए पुलिस ने टीमें गठित की हैं.

नागराजू और सुल्ताना ने 31 जनवरी को आर्य समाज में शादी की थी. वे एक-दूसरे को 10वीं कक्षा से जानते थे, लेकिन उनका परिवार उनके धर्म से बाहर शादी करने के खिलाफ था.

सुल्ताना ने कहा कि उसने पहले नागराजू से दूर रहने की कोशिश की थी. 'मैंने उससे कहा था कि अगर मैं तुमसे शादी नहीं करती हूं, तो मैं किसी और से भी शादी नहीं करूंगी. मैंने उससे कहा कि जीवन या मौत केवल तुम्हारे साथ है. मैं मर जाऊंगी. हमारी शादी से पहले, मैंने उससे दो महीने तक बात नहीं की थी.'

शादी के बाद सुल्ताना ने अपना नाम बदलकर पल्लवी रख लिया था. उसके परिवार ने कथित तौर पर नागराजू को धमकी दी थी और उससे दूर रहने के लिए कहा था.

नागराजू की बहन रमादेवी ने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया, 'हमने लड़की के परिवार से जान से मारने की धमकी पर पुलिस में शिकायत दर्ज की थी. पुलिस की लापरवाही के कारण, आज मैंने अपने भाई को खो दिया. वह परिवार का एकमात्र कमाने वाला था.'

स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं ने हत्या का विरोध किया, जिससे क्षेत्र में तनाव पैदा हो गया.


पुलिस अधिकारी श्रीधर रेड्डी ने कहा, 'एक व्यक्ति की दो व्यक्तियों ने हत्या कर दी. मृतक अपनी पत्नी के साथ बाइक पर जा रहा था. उनकी हाल ही में शादी हुई थी और दोनों अलग-अलग समुदायों से ताल्लुक रखते हैं. मृतक की पत्नी के भाइयों ने नागराजू पर रॉड से हमला कर उसकी हत्या कर दी.'