आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना में करवाएं रजिस्ट्रेशन, मिलेंगे ये गजब के बेनिफिट्स

 | 
earn money ideas

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) की ओर से ये जानकारी दी गई है. ईपीएफओ ने ट्वीट कर इस सूचना की जानकारी दी है. बता दें कि कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) के बढ़ते मामलों के चलते इस कदम को अहम माना जा रहा है, क्योंकि इस योजना की शुरुआत कोरोना में रोजगार गंवाने वाले लोगों की मदद करने के लिए की गई थी.


 
EPFO के तहत रजिस्टर्ड है ये योजना
बता दें कि आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के तहत सरकार उन कंपनियों को लाभ देती है जो कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के तहत रजिस्टर्ड हैं. इस योजना के जरिए केंद्र सरकार कंपनियों को कई तरह की सब्सिडी और छूट देती है.

कम से कम 50 कर्मचारी वाली कंपनी इस योजना का फायदा उठा सकते हैं. लेकिन उन्हें कम से कम दो नए लोगों को नौकरी जरूर देनी होगी. इसके लिए कंपनियों को EPFO में कंपनियो को रजिस्टर कराना होता है.

ईपीएफओ ने किया ट्वीट
EPFO ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी. EPFO ने बताया कि आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन की तारीख बढ़ा दी गई है. इसकी नई तारीख 31 मार्च 2022 कर दी गई है.

EPFO से रजिस्ट्रेशन कराने से कंपनियों और कर्मचारियों को इंसेंटिव की सुविधा दी जाती है. नए कर्मचारियों को उनकी रजिस्ट्रेशन की तारीख से 2 साल तक इनसेंटिव दिया जाएगा.


 
कर्मचारियों को मिलता है ये फायदा
कंपनियो को सब्सिडी का फायदा इस आधार पर दिया जाता है कि कंपनियां कितने नए कर्मचारियों को नौकरी देती हैं. अगर कोई 15000 रुपए से कम सैलरी वाला कर्मचारी नौकरी पाता है तो कंपनी की तरफ से कर्मचारी को रजिस्ट्रेशन की तारीख से 24 महीने का काम दिया जाना चाहिए.

कितने लोगों को मिला रोजगार
हाल ही में श्रम और रोजगार राज्यमंत्री रामेश्वर तेली ने संसद में जानकारी दी कि आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के अंतर्गत 27 नवंबर तक 39.59 लाख लोगों को रोजगार दिया गया है. उन्होंने कहा कि ये प्रयास आगे भी जारी रहेगा.