यूपी-पंजाब सहित पांच राज्यों में बजा चुनावी बिगुल, 7 चरणों में होंगे मतदान, जानें तारीखें व पूरा शिड्यूल

 | 
यूपी-पंजाब सहित पांच राज्यों में बजा चुनावी बिगुल, 7 चरणों में होंगे मतदान, जानें तारीखें व पूरा शिड्यूल

Assembly election 2022: देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों का बिगुल बज गया है. चुनाव आयोग ने शनिवार को उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, मणिपुर और गोवा के चुनावों की घोषणा कर दी. सभी विधासभा चुनाव 7 फेस में पूरे होंगे. उत्तर प्रदेश में पहले फेज का चुनाव 10 फरवरी से शुरु होगा.

यूपी-पंजाब सहित पांच राज्यों में बजा चुनावी बिगुल, 7 चरणों में होंगे मतदान, जानें तारीखें व पूरा शिड्यूल

चुनाव आयोग ने कहा कि कोरोना वायरस को देखते हुए सभी प्रोटोकॉल्स का ध्यान रखा जाएगा. इसके लिए आयोग ने सभी स्टेकहोल्डर्स के साथ बैठक की है.

किस राज्य में कितने सीटों में होंगे चुनाव
उत्तर प्रदेश- 403 सीट
पंजाब - 117 सीट
उत्तराखंड 70 सीट
मणिपुर - 60 सीट    
गोवा - 40 सीट


इन पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में करीब 18.34 करोड़ वोटर अपने मतदाता अधिकार का प्रयोग करेंगे. वहीं 24.9 लाख वोटर ऐसे होंगे, जो किसी चुनाव में पहली बार वोट देने जा रहे होंगे.

आयोग ने बताया कि 1620 पोलिंग स्टेशन पर सिर्फ महिलाएं होंगी. इन चुनावों में 2 लाख 15 हजार से अधिक पोलिंग स्टेशन होंगे.

रैलियों और जनसभाओं पर लगी रोक
चुनाव आयोग ने कोरोना के मामलों को देखते हुए सभी तरह की पदयात्रा, बाइक रैली, साइकिल रैली, रैली, और जनसभावों पर 15 जनवरी तक रोक लगा दिया है. आयोग आगे स्थिति की समीक्षा के हिसाब से निर्णय लेगा.

गैरकानूनी खर्चों पर होगी कड़ाई
चुनावी आयोग ने दो दिन पहले ही उम्मीदवारों के लिए चुनावी खर्च की सीमा को बढ़ा दिया है. हालांकि आयोग ने कहा कि इसके बावजूद चुनावों के दौरान गैरकानूनी पैसे और शराब पर कड़ीं नजर रखी जाएगी. इसके लिए सभी एजेंसियों को अलर्ट कर दिया गया है.

चुनाव आयोग ने क्रिमिनल बैकग्राउंड वाले प्रत्याशियों के लिए नियम बनाए हैं. सभी पार्टियों को अपने उन प्रत्याशियों के बारे में जानकारी देनी होगी, जिनपर आपराधिक मामले दर्ज हैं. आयोग ने इसके लिए Cvigil नाम से एक एप भी बनाया है, जहां आप किसी भी प्रकार की अनियमितता की शिकायत दर्ज करा सकते हैं. 

इन कोरोना प्रोटोकॉल्स का होगा पालन
चुनाव आयोग ने बताया कि चुनावी ड्यूटी में लगे सभी कर्मचारियों को फ्रंटलाइन वर्कर्स माना जाएगा. उन्हें कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज के साथ ही बूस्टर डोज भी दी जाएगी. वहीं सभी पोलिंग बूथ पर सैनिटाइजेशन की पूरी व्यवस्था की जाएगी.