Mohali Blast News: इंटेलिजेंस कार्यालय में हुआ धमाका, तीसरी मंजिल से टकराई ये चीज

 | 
Mohali, Blast outside Sohna, intelligence office, SSP, IG, मोहाली, इंटेलिंजेंस दफ्तर के बाहर धमाका, रॉकेट, ब्लास्ट

मोहाली के सोहाना में इंटेलिजेंस ब्यूरो के दफ़्तर में एक धमाका हुआ है. ये हमला सोमवार शाम 7.30 बजे हुआ है. घटना का असर इतना भयानक था कि पूरी बिल्डिंग के शीशे चकनाचूर हो गए. वहीं इस धमाके की आवाज दूर तक सुनी गई. मौके पर एसएसपी आईजी ने पहुंचकर जरुरी जांच भी शुरू कर दी है.
 

पंजाब खुफिया कार्यालय की तीसरी मंजिल पर विस्फोट की घटना हुई है. बताया जा रहा है कि रॉकेट से चलने वाला ग्रेनेड इमारत की तीसरी मंजिल पर फेंका गया. धमाके में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. धमाके के बाद बिल्डिंग के शीशे टूट गए.

RPG हमले की आशंका


आशंका जताई जा रही है कि यह हमला RPG से हुआ है. RPG यानी कि रॉकेट प्रोपेल्ड ग्रेनेड. तस्वीर में टूटी हुई ग्रेनेड की तस्वीर देखी जा सकती है. लेकिन दूसरी तरफ पंजाब पुलिस ने इसे आतंकी घटना के तौर पर पुष्टि नहीं की है.

पंजाब पुलिस का कहना है कि यह एक छोटा धमाका था. हालांकि मौके पर फॉरेंसिक टीम भी पहुंच गई है. साथ ही सीएम भगवंत मान ने भी मोहाली धमाके पर रिपोर्ट तलब की है. मौके पर मिली रॉकेटनुमा चीज

RPG की आशंका के बीच एक्सपर्ट्स क्या बोले?

RPG की आशंका के बीच एक्सपर्ट्स का कहना है कि इससे पहले देश में RPG का यूज़ देखने को नहीं मिला है. आज तक से ख़ास बातचीत करते हुए यूपी के पूर्व डीजीपी विक्रम सिंह ने बात की. 

उन्होंने बताया कि अफगानिस्तान में इस तरह के हथियार का इस्तेमाल देखा जा चुका है. इसकी मार काफी खतरनाक होती है. लेकिन यह पता लगाना काफी जरुरी होगा कि अगर ये RPG हमला है तो ये किस RPG मॉडल का हमला है, इसे पता लगाना होगा.
 
पंजाब के पूर्व डीजीपी शशिकांत सिंह ने हैरानी जताते हुए कहा कि यह पहली बार देखने को मिल रहा है कि इस तरह से RPG का इस्तेमाल हुआ है.

रॉकेट प्रोपेल्ड ग्रेनेड 

रॉकेट प्रोपेल्ड ग्रेनेड (RPG) की बात करें तो इसकी रेंज 700 मीटर अधिकतम होती है. इससे किसी भी टैंक, बख्तरबंद गाड़ी, हेलिकॉप्टर या विमान को उड़ाया जा सकता है, अगर निशाना सही लगाया जाए तो. 

एक्सपर्ट्स का कहना है कि इस तरह के हथियार को अफगानिस्तान में देखा गया था. ऐसे में यहां इस तरह के हथियार का अगर इस्तेमाल हुआ है तो यह बेहद ही चिंता की बात है. 

बिल्डिंग की हुईं लाइट ऑफ 

इंटेलिजेंस बिल्डिंग के बाहर हमले के बाद इलाके में तनाव की स्थिति बनी हुई है. जांच की टीम मौके पर हैं. लेकिन इसी बीच दफ्तर की बिल्डिंग की लाइट ऑफ़ करते हुए देखा गया. 


 
अमूमन ऐसी किसी घटना के बाद सभी लाइट ऑन कर दी जाती हैं. रोशनी कर दी जाती है, लेकिन धमाके के बाद यहां बिल्डिंग की लाइट ऑफ़ करते हुए भी देखा गया. 

हाल ही में पकड़े गए थे चार आतंकी

इससे पहले कुछ दिन पहले हरियाणा के करनाल में आतंकवाद के खिलाफ बड़ी कार्रवाई हुई है. जिसमें देश को दहलाने की खालिस्तानी साजिश को नाकाम कर दिया गया. करनाल से चार संदिग्ध आतंकियों को पकड़ा गया. 

इनके पास से बड़ी मात्रा में गोलियां और बारूद के बक्से मिले. इनके पास से तीन IED बम भी मिले. बताया जा रहा है कि चारों का संबंध पंजाब के आतंकी संगठन बब्बर खालसा इंटरनेशनल (BKI) से है. इनको पकड़ने के लिए IB पंजाब पुलिस और हरियाणा पुलिस ने ज्वाइंट ऑपरेशन चलाया था.