किसान कर्ज माफी 2022 : किसानों का पुराना कर्ज होगा माफ, नया लोन मिलेगा, फटाफट देखें जरूरी दस्तावेज

 | 
किसान कर्ज माफी 2022

Agriculture Loan Waiver Scheme 2022: देश का किसान दिन-रात मेहनत करके सभी देशवासियों की खाद्य संबंधी जरूरतों को पूरा करता है। कई बार किसान को मौसमी नुकसान, बाजार भाव कम होने के कारण फसल का पूरा दाम नहीं मिल पाता है और किसान कर्जदार हो जाता है। सरकार भी किसानों के दुख-दर्द को समझते हुए समय-समय पर कर्ज माफी की घोषणा करती रहती है। अब नए साल 2022 में किसानों के लिए राहत भरी खबर आई है। किसान कर्ज माफी 2022 योजन के तहत किसानों का कर्ज माफ करने का सरकार ने निर्णय लिया है। साथ ही किसानों का पुराना कर्ज माफ कर नए किसानों को अधिक ऋण दिया जाएगा। ट्रैक्टरफर्स्ट की इस पोस्ट में आपको कृषि ऋण माफी योजना 2022 के बारे में जानकारी दी जा रही है तो बने रहिए ट्रैक्टरफर्स्ट के साथ।


झारखंड सरकार 9 लाख किसानों का ऋण करेगी माफ
देश के किसानों को कर्ज माफी योजना का सबसे ज्यादा इंतजार रहता है। अब आपको बता दें कि किसान कर्ज माफी योजना का लाभ झारखंड राज्य के 9 लाख किसानों को मिलेगा, जिनके ऊपर 50 हजार रुपए तक का बैंक लोन है। यदि किसान के ऊपर 50 हजार रुपए से ज्यादा का बैंक बकाया है तो सिर्फ 50 हजार रुपए का लोन ही माफ होगा। शेष राशि किसान को खुद जमा करानी होगी। झारखंड कृषि ऋण माफी योजना के तहत 50 हजार रुपए तक का ऋण ही माफ किया जाएगा। सरकार इस योजना के माध्यम से प्रदेश के किसानों को राहत पहुंचाने में जुटी हुई है।

जानें, क्या है झारखंड कृषि ऋण माफी योजना
झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने 15 अगस्त 2021 को झारखंड किसान कर्ज माफी योजना 2022 की घोषणा की थी। योजना के छोटे और सीमांत किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा। राज्य सरकार ने किसानों का कर्ज माफ करने के लिए 2 हजार करोड़ रुपये का बजट प्रावधान रखा है। हालांकि राज्य में 58 लाख किसान है लेकिन सरकार की इस योजना से 9 लाख किसानों को फायदा होगा। किसान कर्ज माफी योजना से बैंकों को भी फायदा होगा। जब सरकार किसानों के कर्ज की राशि बैंक में जमा कराएगी तो बैंकों के पास वापस पैसा आएगा और बैंक इस राशि को फिर नए सिरे से किसानों के बीच बांटेंगे तो किसानों को दुबारा लोन मिल सकेगा। 

झारखंड किसान कर्ज माफी योजना का उद्देश्य 


झारखंड कृषि ऋण कर्ज माफी योजना का उद्देश्य राज्य के अल्पावधि कृषि धारक कृषक को ऋण के बोझ से राहत देना है। योजना के प्रमुख उद्देश्यों का विवरण नीचे दिया गया है।

  • फसल ऋण धारक की ऋण पात्रता में सुधार लाना
  • नए फसल ऋण प्राप्ति को सुनिश्चित करना
  • किसान समुदाय के पलायन को रोकना
  • कृषि अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करना

कृषि ऋण माफी योजना की खास बातें

  • झारखंड कृषि ऋण माफी योजना से झारखंड के 9 लाख किसान लाभान्वित होंगे।
  • 31 मार्च 2020 तक मानक फसल ऋण धारक किसानों को मिलेगा योजना का लाभ।
  • 50 हजार रुपए तक की बकाया राशि माफ की जाएगी। 
  • योजना वेबपोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन संचालित होगी। इससे आवेदक और पदाधिकारियों के बीच कम से कम संपर्क होगा।
  • आधार कार्ड नंबर से पात्र किसानों की पहचान होगी।
  • यह पूरी प्रक्रिया पेपरलैस होगी।
  • किसानों को सीएससी और बैंक के माध्यम से घर के पास ही योजना का लाभ मिलेगा।
  • डीबीटी के माध्यम से बकाया ऋण राशि का भुगतान किया जाएगा।
  • आवेदकों की शिकायतों का निस्तारण भी ऑनलाइन होगा।

किसान कर्ज माफी योजना की पात्रता
झारखंड सरकार ने कृषि ऋण माफी योजना की पात्रता निर्धारित की है। योजना का लाभ सिर्फ पात्र किसानों का ही मिलेगा। आइये जानते हैं योजना के पात्र कौन-कौन होंगे।

  • रैयत-किसान जो अपनी कृषि भूमि पर खेती करते हैं।
  • गैर रैयत-किसान जो अन्य रैयतों की भूमि पर कृषि करते हैं।
  • किसान झारखंड राज्य का निवासी होना चाहिए।
  • किसान की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • एक परिवार से एक ही फसल ऋण धारक पात्र होगा।
  • आवेदक अल्प अवधि फसल ऋण धारक होना चाहिए।
  • किसान का फसल ऋण झारखंड राज्य के बैंक में बकाया होना चाहिए।
  • दिवगंत ऋण धारक का परिवार भी योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  • यह योजना सभी फसल ऋण धारकों के लिए स्वैच्छिक है। 

किसान कर्ज माफी योजना में आवश्यक दस्तावेज
झारखंड कृषि ऋण कर्ज माफी योजना का लाभ उठाने वाले किसान के पास राशन कार्ड, किसान क्रेडिट कार्ड, वैध आधार कार्ड नंबर, बैंक खाता होना चाहिए।

किसान कर्ज माफी योजना की अधिक जानकारी
झारखंड कृषि ऋण माफी योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए किसान भाई jkrmy.jharkhand.gov.in पर विजिट कर सकते हैं। विभिन्न मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार झारखंड में 5 लाख से ज्यादा किसानों पर कृषि ऋण का बोझ है। अधिकांश किसानों ने किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से लोन लिया है। अब सरकार योजना के माध्यम से इन किसानों का 50 हजार रुपए की सीमा तक ऋण माफ करना चाहती है। झारखंड सरकार ने जिले के हिसाब से पात्र किसानों की सूची जारी कर दी है। किसान इस लिस्ट में अपना नाम देख सकते हैं।