Onion Price: इस राज्य में कौड़ियों के भाव बिक रहा है प्याज, तो केरल में आसमान पर पहुंच गए दाम

 | 
Onion Price, What is the price of 1 kg onion, What is the current price of onion, Latest Price of onion, Mandi Rates of onion, Latest News on onion prices, Minimum Support Prices for Onion, Pyaz ka dam, प्याज की कीमत, एक किलो प्याज की कीमत क्या है, प्याज का दाम, प्याज की ताजा कीमत, प्याज का मंडी भाव, प्याज के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य की मांग

उत्तर प्रदेश के किसानों को भी महाराष्ट्र के मुकाबले प्याज का दाम (Onion Price) ठीक मिल रहा है। उधर, केरल की एक मंडी में 4500 रुपये प्रति क्विंटल तक का दाम पहुंच गया है। आखिर ऐसा क्यों है? प्याज का सबसे बड़े उत्पादक राज्य महाराष्ट्र में किसान प्याज को कम दाम पर बेचने को मजबूर है। कहीं 150 तो कहीं 200 रुपये प्रति क्विंटल के रेट पर प्याज बिक रहा है। लेकिन क्या दूसरे राज्यों में भी ऐसा ही हाल है? बिहार में हालात महाराष्ट्र के बिल्कुल उलट हैं।
 
देश के कुल प्याज उत्पादन में बिहार की हिस्सेदारी 5.61 फीसदी है। यहां पर प्याज का न्यूनतम दाम 1000 से 1600 रुपये तक है। जबकि महाराष्ट्र में इतना अधिकतम रेट भी नहीं है।

उत्तर प्रदेश के किसानों को भी महाराष्ट्र के मुकाबले प्याज का दाम (Onion Price) ठीक मिल रहा है। उधर, केरल की एक मंडी में 4500 रुपये प्रति क्विंटल तक का दाम पहुंच गया है। आखिर ऐसा क्यों है?

महाराष्ट्र के कई बाजारों में प्याज के दाम में इतनी गिरावट आ गई है कि किसानों को लागत भी नहीं मिल पा रही। जिससे किसान परेशान हैं। अहमदनगर जिले की अकोले मंडी में 15 मई को प्याज का न्यूनतम रेट सिर्फ 150 रुपये प्रति क्विंटल रहा।

जबकि पुणे जिले की जुन्नर मंडी में 300 रुपये प्रति क्विंटल का न्यूनतम दाम रहा। ऐसे में किसान सरकार से सवाल कर रहे हैं कि इस तरह इनकम डबल कैसे होगी।
प्याज पर घोषित हो न्यूनतम समर्थन मूल्य
बिहार के किशनगंज जिले की ठाकुरगंज मंडी में 15 मई को प्याज का न्यूनतम दाम 1850 रुपये प्रति क्विंटल तक पहुंच गया। जबकि अधिकतम 2100 और औसत दाम 2000 रुपये रहा।

महाराष्ट्र प्याज उत्पादक संगठन के अध्यक्ष भारत दिघोले का कहना है कि महाराष्ट्र में ट्रेडर्स की लॉबी बहुत मजबूत है। वो अपने हिसाब से मार्केट को चलाती है। मुनाफा कमाती है। उन पर सरकार का कोई अंकुश नहीं है।

इस बार उत्पादन भी महाराष्ट्र में अच्छा है, लेकिन इतना अधिक नहीं है कि दाम सिर्फ 4-5 रुपये प्रति रुपये किलो मिले। इसलिए सरकार प्याज पर भी न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) घोषित कर दे, तब जाकर पूरे देश के प्याज उत्पादक किसानों को फायदा मिलेगा।

वरना इस बार तो प्याज की खेती करने वाले महाराष्ट्र के किसानों को काफी नुकसान हो रहा है, क्योंकि उत्पादन लागत भी नहीं निकल रही है।
 
प्याज का मंडी भाव

  • बिहार के अररिया में प्याज का न्यूनतम दाम 1200, अधिकतम 1400 और औसत मूल्य 1300 रुपये प्रति क्विंटल रहा।
  • बिहार के बांका में न्यूनतम दाम 1300 रुपये, अधिकतम 1500 और औसत दाम 1400 रुपये प्रति क्विंटल रहा।
  • पटना में न्यूनतम दाम 1200, अधिकतम 1500 और औसत दाम 1300 रुपये रहा।
  • बिहार के मधुबनी में न्यूनतम दाम 1600, अधिकतम दाम 1800 और औसत दाम 1700 रुपये प्रति क्विंटल रहा।
  • केरल के कोल्लम में न्यूनतम दाम 4500 और औसत रेट 4600 रुपये प्रति क्विंटल रहा।
  • केरल के ही कोट्टायम में प्याज का न्यूनतम रेट 3500 अधिकतम 4000 और औसत दाम 3800 रुपये प्रति क्विंटल रहा।