किसान भाइयों के लिए बड़ी खुशखबरी: सरकार दे रही है फ्री में खरीफ फसलों के बीज, जानिए कैसे खरीदे

Kharif Crops Seeds: राजस्थान सरकार में कृषि मंत्री लालचंद कटारिया ने अधिकारियों को मॉनसून के आने से पहले किसानों के लिए खाद एवं बीज की तुरन्त व्यवस्था करने का निर्देश दिया है. उन्होंने 7 दिनों के अंदर इस काम को पूरा करने को कहा है.

 | 
किसान भाइयों के लिए बड़ी खुशखबरी: सरकार दे रही है फ्री में खरीफ फसलों के बीज, जानिए कैसे खरीदे

Kharif Crops Seeds: खरीफ फसलों की बुवाई नजदीक आ चुकी है, कई जिलों में अच्छी बारिश भी हो गई है. ऐसे बस कुछ ही दिनों में खेतों में किसान खेतों में फसलों की रोपाई में लग जाएंगे. ऐसे में राजस्थान सरकार किसानों को खरीफ फसलों के लिए निशुल्क बीज मिनिकिट्स उपलब्ध करा रही है.

7 दिनों के अंदर पूरा हो काम

राजस्थान सरकार में कृषि मंत्री लालचंद कटारिया ने अधिकारियों को मानसून के आने से पहले किसानों के लिए खाद एवं बीज की तुरन्त व्यवस्था करने का निर्देश दिया है. उन्होंने 7 दिनों के अंदर इस काम को पूरा करने को कहा है. इस दौरान उन्होंने सरकारी योजनाओं को लघू और सीमांत किसानों तक पहुंचाने के लिए प्रचार-प्रसार पर जोर दिया है.

गुणवत्ता पर रखें विशेष ध्यान

कृषि मंत्री ने तारबंदी का टारगेट समय पर पूरा करने के निर्देश देते हुए कहा कि किसानों को अनुदान पर मिलने वाले कृषि उपकरणों की गुणवत्ता पर ध्यान देने का निर्देश दिया है. इसके अलावा पाईप लाईनों की क्वालिटी बेहतर रहे इसका ध्यान रखने को कहा है.

कृषि आयुक्त कानाराम ने प्रजेन्टेशन के माध्यम से बताया कि इस खरीफ वर्ष में 164 लाख हैक्टेयर बुई का लक्ष्य रखा है. जिसके लिए  9.62 लाख बीज उपलब्ध है. राज्य में 3.92 लाख मेट्रिक टन यूरिया, 1.61 लाख मेेट्रिक टन डी.ए.पी. एवं 1.65 लाख मेट्रिक टन एस.एस.पी. का स्टॉक उपलब्ध है तथा उर्वरकों की आपूर्ति निरंतर जारी है.

कृृषि आयुक्त ने बजट वर्ष 2022-23 की घोषणा की जानकारी देते हुए बताया कि राज्य में 15 हजार फार्म पौण्ड तथा 5 हजार डिग्गी निर्माण का लक्ष्य निर्धारित है. 7 हजार किलोमीटर पाईप लाईन, 6 हजार किमी तारबंदी, 30 हजार कृषकों को अनुदान पर कृृषि यंत्र का लक्ष्य निर्धारित है.

इसके साथ ही 8 लाख संकर मक्का मिनिकट, 10 लाख बाजरा, 2.74 लाख मूंग, 26 हजार 315 मोठ, 31 हजार 275 उड़द एवं 1 लाख ढेंचा बीज के मिनिकिट्स का निःशुल्क वितरण किया जायेगा.