मूसेवाला हत्याकांड में इन राज्यों की पुलिस मिलकर कर रही है मामले की छानबीन, महाराष्ट्र के गृह मंत्री ने कही ये बात...

 | 
मूसेवाला हत्याकांड में इन राज्यों की पुलिस मिलकर कर रही है मामले की छानबीन, महाराष्ट्र के गृह मंत्री ने कही ये बात...

 आपको बता दें की लोकप्रिय गायक और कांग्रेस नेता सिद्धू मूसेवाला की पिछले महीने पंजाब में हुई हत्या के बाद अब तक शूटर्स का कुछ पता नहीं चला है। पंजाब पुलिस ने हालांकि इस मामले से जुड़े कई अपराधियों को पकड़ लिया है।

इस बीच महाराष्ट्र के गृह मंत्री दिलीप वालसे पाटिल ने रविवार को बताया कि इस मामले में चार-पांच राज्यों की पुलिस टीमें मिलकर काम कर रही हैं। इस पर महाराष्ट्र आतंकवाद निरोधी दस्ते (ATS) की भी नजर है।


लारेंस बिश्नोई को बताया जा रहा मास्टरमाइंड

 बताया जा रहा है की दिल्ली पुलिस ने हाल ही में कहा था कि गैंगस्टर लारेंस बिश्नोई हत्या के पीछे का मास्टरमाइंड था और उसने मूसेवाला की हत्या में कथित रूप से शामिल छह शूटर्स की पहचान भी की थी। बता दें की  दिल्ली पुलिस ने कहा था कि गायक की मौत एक संगठित और निर्मम हत्या थी।


​​सिद्धेश कांबले को पता था मूसेवाला की हत्या का सच


 आपको बता दें कि जांचकर्ताओं ने यह भी खुलासा किया था कि हाल ही में महाराष्ट्र में पुणे ग्रामीण पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए महाकाल उर्फ ​​सिद्धेश कांबले को पता था कि मूसेवाला की हत्या होने वाली है और हत्या के एक हफ्ते पहले गैंगस्टर विक्रम बराड़ के संपर्क में था।

कांबले लारेंस बिश्नोई गिरोह का एक कथित सदस्य है, जिसे मूसेवाला की हत्या में बड़ा सहयोगी बताया जा रहा है। बरार भी गैंगस्टर लारेंस बिश्नोई का करीबी सहयोगी है, जो फिलहाल दिल्ली पुलिस की हिरासत में है।

वालसे पाटिल ने कही यह बात

बताया जा रहा है की  कि रविवार को जब वालसे पाटिल से मूसेवाला हत्याकांड के ताजा अपडेट के बारे में पूछा गया तो मंत्री ने कहा कि चार से पांच राज्यों की पुलिस टीमें मामले पर एक साथ काम कर रही हैं।


मंत्री ने कहा, "हालांकि, मैं चल रही जांच पर सार्वजनिक रूप से टिप्पणी नहीं कर सकता क्योंकि यह एक संवेदनशील मुद्दा है। महाराष्ट्र पुलिस और राज्य एटीएस इस पर नजर रखे हुए हैं।"

नूपुर शर्मा के खिलाफ प्रदर्शन पर भी बोले

दूसरी और  इसके अलावा निलंबित भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा और उनकी पार्टी के पूर्व सहयोगी नवीन जिंदल द्वारा किए गए विवादित टिप्पणी पर महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में मुस्लिम समुदाय के सदस्यों द्वारा विरोध के बारे में पूछे जाने पर मंत्री ने कहा कि विरोध शांतिपूर्ण तरीके से हुआ था।

उन्होंने कहा कि राज्य में कहीं भी कोई अप्रिय घटना नहीं हुई। जहां नियम तोड़े गए वहां पुलिस ने प्रासंगिक कार्रवाई की, लेकिन इतनी संख्या बहुत कम थी।

अल-कायदा की धमकी पर भी बोले

 बताया जा रहा है की आतंकी संगठन अल-कायदा के हाल ही में पैगंबर के अपमान का बदला लेने के लिए कुछ भारतीय शहरों और राज्यों में आत्मघाती बम विस्फोटों की चेतावनी पर भी पाटिल का बयान सामने आया है।   देते हुए एक पत्र जारी किया था।

बता  दें की वालसे पाटिल ने कहा कि वह रविवार को यहां पुलिस अधिकारियों के साथ नागपुर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) मुख्यालय की सुरक्षा की समीक्षा करेंगे।